You will find the latest information about our company here. You will find the latest information about our company here. You...

gallery/546817365_640

Please insert information that will be useful to your customers here Please insert information that will be useful to your...

gallery/children-81546127365_640
gallery/rishiraj ashram logo
gallery/513415051
gallery/500130316
gallery/child_123456
gallery/child_948465
gallery/child_4551321

Rishiraj Ashram

शिक्षा में ज्ञान, उचित आचरण और तकनीकी दक्षता, शिक्षण और विद्या प्राप्ति आदि समाविष्ट हैं। इस प्रकार यह कौशलों (skills), व्यापारों या 
व्यवसायों एवं मानसिक, नैतिक और
 सौन्दर्यविषयक के उत्कर्ष पर केंद्रित है।.

Our mission

भारतीय आयुर्विज्ञान

यह अत्यंत प्राचीन समय में भी समुन्नत दशा में था। आज भी इसका कुलश रूप से प्रयोग होता है। आयुर्विज्ञान के उद्गम वेद हैं (समय के लिए द्र. वेद)। वेदों में, विशेषत: अथर्ववेद में, शरीरविज्ञान, औषधिविज्ञान, चिकित्साविज्ञान, कीटाणुविज्ञान, शल्यविज्ञान आदि की ऋचाएँ उपलब्ध हैं।

.

Why us?

ज्ञान - लोगों के भौतिक तथा बौद्धिक सामाजिक क्रियाकलाप की उपज ; संकेतों के रूप में जगत के वस्तुनिष्ठ गुणों और संबंधों, प्राकृतिक और मानवीय तत्त्वों के बारे में विचारों की अभिव्यक्ति है। 

Changing future